कुल पेज दृश्य

बुधवार, 22 मई 2013

UPA सरकार के 9 साल (व्यंग्य)


दिन- बुधवार
तारीख- 22 मई 2013
स्थान- प्रधानमंत्री निवास,
      7 रेसकोर्स रोड, नई दिल्ली

शाम के सात बज चुके हैं लेकिन दिल्ली की आबोहवा में अभी भी तपिश महसूस हो रही है। चिपचिपी गर्मी में 7 रेसकोर्स रोड के बाहर सुरक्षाकर्मी पूरी मुस्तैदी के साथ तैनात हैं। हर आने जाने वाले पर खास नजर रखी जा रही है। 7 रेसकोर्स रोड पर लाल बत्ती लगी गाडियों के साथ ही लग्जरी वाहनों की आमद होने लगी है। चमचमाती गाड़ियों में से सफेद लिबास पहने यूपीए सरकार के मंत्री और कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों के नेता बाहर निकल रहे हैं। मंत्रियों और नेताओं के लिबास की सफेद चमक भी ऐसी की आंखें भी चौंधियां रही हैं..!
इस सफेदी के पीछे की चमक के बीच भी नेताओं के दामन पर लगे दाग बाहर झांकते दिखाई दे रहे हैं लेकिन नेताओं और मंत्रियों को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। उनकी मानें तो दाग तो चंद्रमा पर भी है और वैसे भी ये दाग इसलिए हैं ताकि यूपीए सरकार को किसी की नजर न लगे..!
7 रेस कोर्स रोड के अंदर का नजारा एकदम उलट है...एसी की ठंडक रुह को सुकून पहुंचा रही है...चिपचिपी गर्मी का तो नामोनिशान तक नहीं है। नेतानगरी के दिग्गजों का मजमा लगने लगा है। यूपीए सरकार के लगभग सभी मंत्री और यूपीए के घटक दलों के नेताओं की पूरी जमात 7 रेसकोर्स रोड पर जुट गयी है। इसी बीच कुछ खुसर पुसर सी होती है जो किसी खास के आने का संकेत समझ में आती ही और सभी मंत्री-नेता सावधान की मुद्रा में एक कतार में खड़े हो जाते हैं..!
सबकी निगाहें एक तरफ हो रही हलचल पर ठहर जाती हैं और तभी यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का आगमन होता है। कतारबद्ध खड़े कुछ मंत्रीगण और नेतागण हाथ जोड़कर तो कुछ झुककर सोनिया-मनमोहन का अभिवादन करते हैं..!
दरअसल ये मौका है यूपीए सरकार के 9 साल पूरा होने का...आज ही के दिन 9 साल पहले 22 मई 2004 को मनमोहन सिंह ने पहली बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी। इसके बाद 22 मई 2009 में मनमोहन सिंह ने दोबारा प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी। इऩ 9 सालों का यूपीए सरकार का रिपोर्ट कार्ड कुछ ही देर में मनमोहन सिंह पेश करेंगे और 2014 के आम चुनाव से पहले ये मनमोहन सिंह का आखिरी रिपोर्ट कार्ड होगा..!
मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी मंच पर पहुंच चुके हैं और रिपोर्ट कार्ड पेश करने की तैयारी है..! रिपोर्ट कार्ड पेश करने से पहले यूपीए सरकार की 9 साल की उपलब्धियों को प्रोजेक्टर के माध्यम से सामने लगे पर्दे पर दिखाया जा रहा है..!
तालियों की गड़गड़ाहट के बीच स्लाइड शो शुरु होता है..!

पहली स्लाइड- 2 जी घोटाला
दूसरी स्लाइड- कॉमनवेल्थ खेल घोटाला
तीसरी स्लाइड- कोयला घोटाला
चौथी स्लाइड- एस बैंड स्पैक्ट्रम घोटाला
पांचवी स्लाइड-एयरसेल – मैक्सिम समझौता
छठी स्लाइड- कैश फॉर वोट घूस कांड
सातवीं स्लाइड- मनरेगा घोटाला
आठवीं स्लाइड- सलमान खुर्शीद ट्रस्ट घोटाला
नौवीं स्लाइड- वीवीआईपी हैलिकॉप्टर घोटाला
...हर स्लाइड के साथ तालियों की गड़गड़ाहट भी बढ़ती ही जा रही है..!
दसवीं स्लाइड- सीबीआई-कानून मंत्री कांड
ग्यारवहीं स्लाइड- रेल घूस कांड
बारहवीं स्लाइड- भारतीय सैनिकों का सिर कलम करने पर सरकार की चुप्पी
तेरवहीं स्लाइड- चीनी सैनिकों के लद्दाक में कब्जे पर सरकार की चुप्पी

ये क्या..? अचानक पर्दे पर लिखा आता है – Overload…Try again..!

स्लाइड शो बंद हो जाता है। पूछने पर जवाब मिलता है कि Overload होने की वजह से स्लाइड शो बंद हो गया..!
इसके बाद स्लाइड शो में दर्शायी गयी यूपीए सरकार की सभी उपलब्धियों के लिए मंत्रियों और नेताओं को मंच पर बुलाकर सोनिया गांधी सम्मानित करती हैं साथ ही पवन बंसल टाइप कुछ लोगों को सोनिया मन लगाकर काम न करने पर फटकार भी लगाती हैं और सभी लोगों को यूपीए सरकार के बचे हुए एक साल के कार्यकाल में उपलब्धियों की किताब को पूरा करने की निर्देश देती हैं..!
इसी बीच स्लाइड शो चला रहे व्यक्ति को भी सोनिया फटकार लगाती हैं और अगली बार पूरी तैयारी से इससे बढ़िया स्लाइड शो तैयार करने का निर्देश भी देती हैं ताकि सारी उपलब्धियों को लोग जान सकें..!
सम्मान समारोह के बाद सोनिया गांधी मनमोहन सिंह को रिपोर्ट कार्ड जारी करने को कहती हैं तो मनमोहन सिंह रंगीन कागज में लिपटे रिपोर्ट कार्ड का अनावरण करते हैं और इसी के साथ तालियों की गड़गड़ाहट से पूरा हॉल गूंजने लगता है..! सभी को रिपोर्ट कार्ड की एक – एक कॉपी दी जाती हैं..! रिपोर्ट कार्ड खोलने पर यूपीए सरकार की तारीफों के पुल के साथ ही सरकार के कार्यों का खूब बखान देखने को मिलता है...जो कुछ इस तरह है..!

1 मनरेगा स्कीम का विस्तार
2 रिटेल मे एफडीआई
3 डॉयरेक्ट कैश ट्रांस्फर स्कीम
4 मुफ्त शिक्षा का अधिकार
5 लोकपाल बिल
6 भूमि अधिग्रहण बिल
7 खाद्य सुरक्षा बिल

इसके साथ ही रिपोर्ट कार्ड में महत्वपूर्ण मुद्दों पर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की चुप्पी का भी खासतौर पर जिक्र किया गया है और भविष्य में भी इसी तरह का आचरण करने की उम्मीद जतायी गयी है..!
यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी आखिर में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को महत्वपूर्ण मुद्दों पर उनकी चुप्पी के लिए विशेष मौनी सम्मान से नवाजती हैं..!
इसके बाद सभी लोग डिनर के लिए चले जाते हैं..!
कुछ देर बाद सभी लोग डिनर करके अपने-अपने घर के लिए प्रस्थान कर चुके हैं..!
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह वीवीआईपी अतिथि कक्ष से बाहर निकलते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को रिपोर्ट कार्ड की एक कॉपी देते हुए सोनिया और राहुल को बाहर छोड़ने के लिए आते हैं..!
10 जनपथ को जा रही गाड़ी में सोनिया संग राहुल पिछली सीट पर बैठे हैं। रिपोर्ट कार्ड की कॉपी का उपलब्धियों भरा पृष्ठ खोलते ही राहुल गांधी के होश उड़ जाते हैं..! राहुल अपनी मां सोनिया का हाथ जोर से हिलाते हुए कहते हैं...मॉम...मॉम...बड़ी गलती हो गयी..! लगता है रिपोर्ट कार्ड गलत छप गया है..! स्लाइड शो में जो दिखाया गया था वो तो इसमें कुछ है ही नहीं..!
सोनिया ठहाका मारकर हंसती हैं...और राहुल के सिर पर प्यार से हाथ फेरकर मन ही मन सोच रही हैं...ये लड़का कब बड़ा होगा..???

deepaktiwari555@gmail.com